How to Increase Mileage | Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage

 

|How to Increase Mileage| 

Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage 

ढ़ती हुई महंगाई के दौर में हर कोई चाहता है कि उसकी गाड़ी ज्यादा से ज्यादा माइलेज दे। अच्छा माइलेज किसी को बुरा नहीं लगता लेकिन काफी सार कार ओनर्स की कंप्लेंट होती है कि उनकी गाड़ी क माइलेज दे रही है या फिर ठीक-ठाक माइलेज ही दे पाती है तो चलिए जानते हैं उन टिप्स के बारे में जिनकी मदद से आप अपनी गाड़ी से मैक्सिमम माइलेज निकलवा सकते हैं। देखिए इस लेख में मै आपको कोई जादू करना नहीं सिखाने वाला जैसे कि आप अपनी गाड़ी का कोई तार काट क यहां से वहां लगा दे जिसके कारण आपकी गाड़ी 20 कि जगह 40 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देने लगेगी। इस लेख मे मैं आपको जो टिप्स बताने वाला हूं हो सकता है उनमें से ज्यादातर आप पहले से जानते हो लेकिन उन्हें फॉलो नहीं करते हो या फिर ऐसा भी हो सकता है कि यह टिप्स आपके लिए नई हो और आप पहले से इन्हे नहीं जानते हो, तो चलिए शुरू करते हैं -


You're On--- How to Increase Mileage | Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage 

 

फर्स्ट टिप

देखिए कई लोगों को गलत जानकारियां होती हैं लोगों को लगता है कि जो ऑफिशियली क्लेमड माइलेज होते हैं एआरएआई टेस्टेड माइलेज होते हैं वही माइलेज गाड़ी रियल लाइफ कंडीशन में भी निकाल कर देती है जबकि ऐसा नहीं होता मेरा कहने का मतलब है कि अगर किसी गाड़ी में 25 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज क्लेम किया जाता है तो कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि उतना ही माइलेज उन्हें भी वह गाड़ी निकाल कर देगी लेकिन जब उस गाड़ी को रियल लाइफ कंडीशन में चलाया जाता है तो वह मैक्सिमम 18-20 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज निकाल कर दे पाती है जिसके कारण वो लोग कहते हैं कि उनकी गाड़ी माइलेज कम दे रही है जबकि वह अच्छा माइलेज दे रही होती है। देखिए आसान से आसान भाषा में मैं आपको बता देता हूं कि जो माइलेज गाड़ियों में ऑफीशियल क्लेम किया जाता है उसका मतलब होता है वह गाड़ी आर्टिफिशियल और फैव्रेबल कंडीशन में कितना माइलेज मैक्समम दे सकती है लेकिन रियल लाइफ कंडीशन उस गाड़ी के लिए वह फेवरेबल कंडीशन बनाकर रखना काफी मुश्किल हो जाता है इसलिए कोई भी गाड़ी अपना ऑफिशल क्लेमड माइलेज रियल लाइफ कंडिशन्स मे नहीं दे पात इसके अलावा अगर आपने नई गाड़ी खरीदी है तो शुरुआत में वो गाड़ी आपको अच्छा माइलेज नहीं दे पाएगी आप लोगों ने भी सुना होगा कि गाड़ी पहली सर्विस के बाद अच्छा माइलेज देने लगती है। असल मे सर्विस मे ऐसा कुछ नहीं होता लेकिन पहली सर्विस तक गाड़ी कुछ 1000 किलो मीटर चल जाती है  जिसके कारण इंजन अपना बेस्ट माइलेज देने लगता है। इन बातों के अलावा आप अपनी गाड़ी का इग्ज़ैक्ट माइलिज चेक कर ले, हो सकता हो आपको ऐसा लग रहा हो कि आपकी गाड़ी माइलिज कम दे रही है लेकिन रीऐलिटी मे सही माइलिज निकाल रही हो।

 

सेकंड टिप - मेंटेनेंस

देखिए जो गिविन डेट पॉलिसी होती है वही सेम यहा पर भी है चाहे गाड़ी दो या तीन लाख की हों या फिर दो या तीन करोड़ की उसमें मेंटेनेंस चाहिए ही चाहिए। जितने अच्छे तरीके से आप अपनी गाड़ी को मेंटेन करके रखेंगे उतना ही अच्छा रिस्पांस गाड़ी आपको पलट कर देगी इसीलिए आप अपनी गाड़ी के ओनर्स मैनुअल मे दिए गए रेकमेनडेड शेड्यूल के हिसाब से ऑयल फिल्टर, एयर फिल्टर, स्पार्क प्लग, फ्यूल फिल्टर, आक्सिजन सेन्सर और फ्यूल इंजेक्टर जैसी चीजों को समय-समय पर साफ करवाते रहे और रिप्लेस करवाते रहें। फ्री सर्विस कूपन खत्म होने के बाद लोकल मार्केट से ह अपनी गाड़ी की सर्विसिंग करवाना शुरू कर देते हैं और इस बात पर बिल्कुल ध्यान नहीं देतहै कि जो इंजन ऑइल वो मैकैनिक आपकी गाड़ी मे डाल रहा है वो उसके लिए परफेक्ट है या फिर नहीं अक्सर हम लोगों के लिए इंजन ऑयल का मतलब इंजन ऑयल होता है जबकि हर इंजन ऑइल की विस्कोसिटी अलग होती है मतलब कोई ज्यादा गाढ़ा होता है तो कोई कम गाढ़ा होता है। आपकी गाड़ी के लिए कितना विस्कोसिटी लेवल रिकमेंड किया किया जाता है यह जानकारी आप अपने ओनर्स मैन्युअल में देख सकते हैं। इसके अलावा अगर आपकी गाड़ी 80000 या 100000 या फिर से भी ज्यादा किलोमीटर चल चुकी है हमेशा अच्छा माइलेज देती थी लेकिन अभी आकर उसका माइलेज कम होता जा रहा है तो हो सकता है उसके इंजन में कार्बन डिपॉजिट हो गया हो और अगर ऐसा है तो आपको अपनी गाड़ी के इंजन की डी-कार्बोनाइजिंग करवानी चाहिए जिससे वह इंजन वापस पहले की तरह पर्फॉर्म करना शूरू कर देगा। तो ओवेराल आप अपनी गाड़ी के ओनर्स मैनुअल को अच्छी तरह से पढे उसमे दिए गए रेकमेनडेड शेडुल को स्ट्रीकटली फॉलो करे और अपनी गाड़ी को मैन्टैन रखे।


You're On--- How to Increase Mileage | Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage 


 

थर्ड टिप - टायर प्रेशर

हम लोग गाड़ियों के टायर पर तब तक ध्यान नहीं देते जब तक उसकी हवा बिल्कुल कम नहीं हो जाती या वह पंचर नहीं हो जाता टायर्स में प्रॉपर हवा होने से गाड़ी के माइलेज और उसकी राइडिंग हैंडलिंग पर काफी अंतर आ जाता है इसीलिए आप अपनी गाड़ी के टायर मे प्रापर हवा भरवा कर रखें। उस पर ध्यान दें हो सके तो हफ्ते_दो हफ्ते मे एक बार हवा चेक करवा लिया करें। कोशिश करें कि जब आप अपनी गाड़ी के टायर में हवा डलवा रहे हो तो आपकी गाड़ी क टायर्स कोल्ड हो। इसके अलावा गाड़ी के टायर्स के ऊपर लिखा हुआ प्रेशर मैक्समम प्रेसर होता है ना कि रेकॉममेनडेड है, कई लोग इसे रेकमेनडेड प्रेशर मान कार उतनी हवा डलवा लेते है जो की खतरनाक साबित हो सकती है अगर आप अपनी गाड़ी का रेकमेनडेड टायर प्रेशर जानना चाहते हैं तो गाड़ी के ड्राइवर साइड पर ये इनफार्मेशन दी हुई होती है जिसे आप काफी आसानी से देख सकते हैं।


You're On--- How to Increase Mileage | Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage 


 

फोर्थ टिप - वेट (weight)

देखिए वेट इंवेरसली प्रपोर्शनेट होता हैं माइलिज के। मतलब जितना ज्यादा वेट होगा उतना ही कम गाड़ी आपको माइलेज देगी और जितना कम वेट होगा गाड़ी के ऊपर उतना ही कम लोड होगा गाड़ी के इंजन पर जिसके कारण आपको ज्यादा माइलेज जाएगा वो इंजन निकाल के दे पाएगा। इसलिए आप अपनी गाड़ी की बूट में डिग्गी में कोई फालतू सामान रखकर ना घूमे। अगर आपने अपनी गाड़ी में रूफ़ रैक लगवा रखी है जबकि उसका कोई यूज़ नहीं है तो आप उसको हटवा सकते हैं कई लोग गाड़ियों के प्रोर्टेक्शन के लिए उसके आगे और पीछे बुलगार्ड लगवा लेते हैं जब इन बुलगार्ड के फायदे कम और नुकसान ज्यादा होते है बुलगार्ड मे वेट काफी ज्यादा होता है जिसके कारण गाड़ी क माइलेज पर असर पड़ता है और साथ ही में इनके कारण गाड़ी के एयर बैग और क्रम्पल जोनस सही से काम नहीं कर पाते। इसलिए इस तरह की असेसरीस अपनी गाड़ी में लगवा रखी है जिसके कारण इंजन के ऊपर थोड़ा बहुत ही सही लेकिन वेट लोड आ रहा है तो आप उसको हटवा दें अगर आपको अपनी गाड़ी से माइलिज ज्यादा चाहिए। तो गाड़ी का वेट रीडूस करने का मैं आपको एक तरीका बताता हूं जिसके कारण गाड़ी का माइलेज थोड़ा बहुत बढ़ सकता है। आप अपनी गाड़ी का टैक फूल तब तक नहीं करवाए जब तक आप किसी लॉंग ट्रिप पर ना जाने वाले हो अगर आप सिटी सिटी मे ही अपनी गाड़ी चलाने वाले हैं तो कोसिस करे उसे हाफ टैंक तक ही रखे, हाफ टैंक रखने से गाड़ी का वेट थोडा कम हो जाएगा जिसके कारण माइलिज पर असर पड़ेगा।


You're On--- How to Increase Mileage | Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage 


 

फिफ्थ टिप - ड्राइविंग हैबिट्स

आप लोगों ने अक्सर देखा और सुना होगा कि एक ही गाड़ी अपने डिफ्रन्ट ओनर्स को डिफ्रन्ट माइलिज निकाल कर दे रही होती है मेरा कहने का मतलब है कि मान लीजिए 2 लोग अलग-अलग फोर्ड इकोस्पोर्ट को खरीदते हैं एक इकोस्पोर्ट अपने मालिक को 16 kmpl का माइलेज निकाल रही होती है जबकि दूसरी हार्डली 12 kmpl का ही निकाल पाती है जबकि दोनों ही ओनर्स अपनी गाड़ी को प्रॉपर मेंटेन करके चल रहे हैं कहीं से भी कोई कमी नहीं छोड़ रहे उसके बावजूद सेम कार अपने अलग अलग मालिक को अलग-अलग माइलिज निकाल के देती है ऐसा ज्यादातर इसलिए होता है कि दोनों लोगों का गाड़ी चलाने का तरीका अलग-अलग होता हैकोई अपनी गाड़ी को रफली ड्राइव करता है तो कोई स्मूथली इसलिए अगर आपको अपनी गाड़ी से ज्यादा से ज्यादा माइलेज निकालना है तो जितना हो सके उतना स्मूथली ड्राइव करे, सडन ऐक्सीलीरेशन और सडन ब्रेक दोनों से ही बचे, आगे चल रही गाड़ी से जितना हो सके उतनी दूरी बनाए रखे ताकि आपको अपनी नेक्स्ट स्टेप लेने के लिए समय मिल सके। कई लोग गाड़ी चलते समय रेगुलरली अपना पैर क्लच या ब्रेक पैडल के ऊपर रखे रहते है जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए रेगुलरली पैर रखे रहने से वह पैडल थोड़े से प्रेस हो जाते हैं जो कि फील नहीं हो पाते जिसके कारण इंजन पर लोड पड़ता है और इंजन अपना बेस्ट माइलेज आपको निकाल कर नहीं दे पाता जब भी आप हाईवे ड्राइविंग करते हैं तो कोशिश करें अपनी गाड़ी को एक ही स्पीड पर कांस्टेंटली चलाने की, इससे मतलब यह नहीं है कि अगर अपनी गाड़ी को हाइयर स्पीड पर लगातार ड्राइव करते है तो उस कंडीशन में भी गाड़ी आपको अच्छा माइलिज निकाल कर देगी। मेरा मतलब है कि आप अपनी गाड़ी को 140 kmpl कि स्पीड से लगतार ड्राइव करते है और फिर ये उम्मीद करते है कि ये गाड़ी आपको बेस्ट माइलिज निकाल के देगी तो ऐसा नहीं होने वाला। आपको अपनी गाड़ी को मैक्समम 60 टू 90 kmpl कि स्पीड से ड्राइव करना चाहिए, इस स्पीड पर आपकी गाड़ी आपको बेस्ट माइलिज निकाल के दे सकती है। अगर आपकी गाड़ी मे क्रूज कंट्रोल है तो आप उसे भी यूस कर सकते है एक कॉन्सटेंट स्पीड मेन्टेन करने के लिए। इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा आप कोशिश करें अपनी गाड़ी को हाइयर गेयर्स और लोअर आरपीएम पर चलाने की आपकी गाड़ी स्पीडोमीटर होता है और उसी के बगल में अपको टैकोमीटर दिया हुआ है जिसमें आप देख सकते हैं कि आपकी गाड़ी कितने आरपीएम पर चल रही है मतलब कितने रोटैशन पर मिनट्स पर चल रही है। कोशिश करें अपनी गाड़ी को 2000 टू 3000 आरपीएम पर मेंटेन करके रखें। मान लीजिए कि आपकी गाड़ी में पांच गियर हैं और आप चौथे गियर पर आप अपनी गाड़ी को चला रहे हैं टैकोमीटर आपको शो कर रहा है कि आपकी गाड़ी जल्दी ही 3000 आरपीएम को क्रॉस करने वाली है उसके क्रॉस करने के पहले ही आप फिफ्फथ गेयर को डाल दें ऐसा करने से आप देखेंगे कि टैकोमीटर आपको कम आरपीएम शो करना शुरू कर देगा। कोशिश करें इसी तरह से आप अपनी गाड़ी के आरपीएम को मेन्टेन बनाए रखने की। ज्यादा से ज्यादा हाइयर गेयर्स पर चलाने का मतलब यह नहीं है कि अगर अचानक से स्पीड ब्रैकर आ जाता है तो आप उसी गेयर पर गाड़ी को कॉन्टीनीयु करें अगर स्पीड ब्रैकर आता है तो गाड़ी के गेयर्स को नीचे उतारे और वापिस से हाइयर गेयर्स पर चलाना शुरू करे। इसके अलावा कई लोगों को ऐसा लगता है कि ऐसी बंद कर कर विंडो मिरर को खोलकर गाड़ी चलाई जाए तो ज्यादा माइलेज मिलता है जबकि ऐसा सही भी है और गलत भी है डिपेंड करता है आप कितनी स्पीड पर अपनी गाड़ी को चला रहे हैं अगर आपकी गाड़ी स्लो स्पीड मे चल रही है मतलब मैक्सिमम 50 टू 60 किलोमीटर प्रति घंटा पर तो आप ऐसी बंद कर कर विंडो मिरर खोलकर गाड़ी चला सकते हैं इस कन्डिशन मे आपका फ्यूल बचेगा, लेकिन अगर आप विंडो मिरर ओपन करके हाइयर स्पीड पर अपनी गाड़ी को चला रहे है तो आपका फ्यूल बचने की बजाय ज्यादा खर्च होगा क्युकी मिरर खुले होने के कारण एयर रेसिस्टेंस बढ़ जाता है। अगर आपके पास ऑटोमेटिक कार है तो कोशिश करें उसे ज्यादा से ज्यादा मैनुअल मोड में चलाने की, अगर उसमें पैडल-शिफटर्स दिए हुए हैं तो उन्हें ज्यादा से ज्यादा यूज करें ऐसा करने से आपकी गाड़ी बेटर माइलेज निकाल सकती है।

 

 

You're On--- How to Increase Mileage | Things You can do to Increase Your Vehicle Mileage 


सिकस्थ टिप - व्हील एलाइनमेंट

कोशिश करें समय समय पर आप अपनी गाड़ी का एलाइनमेंट जरूर चेक करवाते रहें।

 

 

सेवन्थ टिप

रेकॉमेनदेड़ सचेडुल के हिसाब से आप अपनी गाड़ी को मेंटेन रखते हैं, रेकॉमेनदेड़ टायर प्रेशर के हिसाब से आप गाड़ी के टायर्स को भी मैन्टैन रखते है गाड़ी को भी बड़ी स्मूथली चलाते है उसके बावजूद आपकी गाड़ी प्रापर माइलेज नहीं दे पाती, तो हो सकता है कि जिस पेट्रोल पंप से आप अपनी गाड़ी में फ्यूल डलवाते हैं वहां पर चोरी होती हो इसीलिए हमेशा किसी ट्रस्टेड पेट्रोल पंप से ही अपनी गाड़ी को री-फ्यूल करवाएं।



तो चलिए यही कुछ टिप्स है जिनको फॉलो करके आप अपनी गाड़ी से मैक्समम माइलिज निकलवा सकते है अगर इसके अलावा आपके पास कोई टिप है तो हमे कमेन्ट बॉक्स मे शेयर जरूर करिएगा।

Reactions

Post a Comment

0 Comments