How's Live Editing Possible | What's the Cost of News Anchor Set 900*****$/- | What is green screen in media

 How's Live Editing Possible | What's the Cost of News Anchor background Set 9,00,**,***$/- | What is green screen in media | begyanii.com




तो सवाल है कि जो इंटरनेशनल मैच होते है जो लाइव मैच होते हैं लाइव क्रिकेट मैच चल रहा है वह एडिट कैसे होता है? कौन सी टेक्नोलॉजी इस्तेमाल हो रही है उसमें?

उसके बारे में बात करने वाले है देखो भाई ज्यादा कोई एडवांस टेक्नोलॉजी इस्तेमाल नहीं हो रही है उसमें नॉर्मल टेक्नोलॉजी इस्तेमाल हो रही है जो अक्सर यूटूबर्स भी इस्तेमाल करते हैं क्या आपको मालूम है कि ऐसे बड़े-बड़े स्टूडियो सॉफ्टवेयर होते हैं कि आप अपने लाइव स्ट्रीम को ही लाइव ही एडिट कर सकते हो आपको पता होगा OBS मे अगर आप ग्रीन स्क्रीन पर गेमिंग करते हो तो देखा होगा आपने गेमर को करते हुए ये चीज वो बैकग्राउंड ईरेज कर देते है जैसे ग्रीन स्क्रीन होती है उनके पीछे एण्ड वो लाइव मे ही अपना बैकग्राउंड ईरेज कर देते है बैकग्राउंड का, मतलब कि लाइव वीडियोज़ मे एडिटिंग हो सकती है न्यूज़ चैनल मे आप जो लाइव न्यूज़ देखते हो कई बार ऐसा होता है कि उनका जो सेट होता है जो वह किसी चीज के बारे में बात कर रहे होते हैं, भारत पाकिस्तान के बारे में बात कर रहे होते हैं 

या 10 तरह कि सेनाओ के बारे मे बात कर रहे होते है और तरह-तरह की चीजों के बारे में बात कर रहे होते हैं लड़ाइयों के बारे मे बात कर रहे होते है या कोई स्पेशल एपिसोड होता है तो न्यूज चैनल में उनके सेट पर ही कुछ कुछ अच्छा 3D सा चलता रहता है बैकग्राउंड में कुछ-कुछ कॉमपोनेन्टस आ जाते हैं तो भाई वो लाइव ही होता है दरअसल जो एंकर व ग्रीन स्क्रीन के सामने खड़ा होता है और इन लोगों के पास इतने पावरफुल सॉफ्टवेयर्स होते हैं कि वो लाइव उस ग्रीन स्क्रीन को रिमूव करके उसके पीछे एक वर्चुअल सेट लगा देते हैं और जो फाइनल प्रोडक्ट निकल कर आता है जो ब्रॉडकास्ट होता है उसमें आपको यह लगता है कि वह एंकर सामने बैठा हुआ है किसी बड़े सेट के कोई बहुत बड़ा इंटरनेशनल सेट है या किसी ने तो कमाल के खर्चे कर रखे पर दरअसल वह ग्रीन स्क्रीन होती है और ज्यादातर न्यूज चैनल जो है छोटे छोटे और मीडियम वाले इस तरह कि टेक्नीक का इस्तेमाल करते है। तो इससे ये चीज पता चलती है कि लाइव विडिओ को भी उसी वक्त लाइव एडिट किया जा सकता है इस तरह के स्टूडियो सॉफ्टवेयर है और मैच कि बात करे तो उसमे ज्यादा एडिट तो होती नही है उसमे क्या होता है नीचे लगाए जाते हैं नीचे स्कोर कार्ड होता है स्कोरबोर्ड होता है और आज कल तो 3D इफेक्ट भी आने लगे हैं अब क्या होता है कि फील्ड में पूरा 3D मे दिखाते हैं ऐसे करके एक्स्ट्रा उसमें कॉम्पोनेंट्स वगैरह ऐड करते हैं जो कि बहुत ईजी है अगर आपके पास इतना पावरफुल स्टूडियो सॉफ्टवेयर और सेटअप है तो आप कर सकते है तो उन लोगों के पास अलग टीम होती है वहाँ कोई एक आदमी नहीं बैठा होता वहाँ पूरी टीम बैठी होती है

जो उस लाइव मैच को हालांकि वो एकदम लाइव नहीं होता उसमें भी थोड़ा सा गैप ये लोग रखते हैं कुछ मिनट या कुछ सेकेंड्स का रखते है और रखना ही पड़ेगा तो भाई उससे वो एडिट करके आप तक ब्रॉडकास्ट कर देते हैं उनका सॉफ्टवेयर होता वह लाइव एडिटिंग करता होता है या उसमें कोई स्क्रिप्ट कोई रन कर सकते हैं जिससे वह प्रीडिफाइन्ड होती है कि किस तरीके से क्या दिखाना है कौन सा स्कोर कार्ड आएगा कौन सी चीज जाएंगे यह चीज सिर्फ क्रिकेट तक लागू नहीं होती यह चीजें फुटबॉल और जो साकर बोलते हैं जिसको साकर, हॉकी और ये सारे जो मैच होते हैं उन सब पर भी लागू होती है तो यह लोग लाइव स्कोर भी अपडेट करते रहते  है और वो सारे नीचे दिखते रहते है।


आपने देखा होगा न्यूज चैनल मे जब ब्रेकिंग न्यूज आती है तो जो एंकर पहले बोलता है बाद में वह लिखा हुआ आता है कि वह अरेस्ट हो गया है, जमानत हो गई या य प्रॉब्लम आ गई, कोरोनावायरस हो गया ब्रेकिंग न्यूज़ आ रही है तो वहां पर उनकी टीम पीछे बैठी हुई होती है, जो ऐकर सामने होता है वो नही एडिट करता है पीछे क्या बात कर रहे हो, वो तो बोल रहा है वो कैसे एडिट करेगा उसका कोई क्लोन थोड़ी है पईचे जो टीम होती है उनको भी न्यूज़ मिल जाती और फटाफट से वो लाइव उसी मे चढ़ा कर के वो बैनर सा लगा देते है और ऐकर उस चीज को बोलता है और पावरफुल स्टूडियो सॉफ्टवेयर होते है जो उसको एडिट करते है।

छोटे तौर पर आप देखेंगे जो गेमर्स होते है वो OBS का इस्तेमाल करते है लेकिन जो बड़े बड़े मैचेस और लाइव न्यूज जो चल रही होती है वो बहुत पाउअर्फल सॉफ्टवेयर इस्तेमाल होते है जो बड़ी बड़ी ऑर्गनिऐएशन इस्तेमाल करती है बड़े बड़े चैनल्स इस्तेमाल करते है ये फ्री नहीं होते है ये पेड होते है और इनको महीने के लाखों रुपए उस सॉफ्टवेयर के लिए उस सॉफ्टवेयर कंपनी को सब्सक्रिप्शन के तौर पर देने पड़ते हैं, बहुत एक्सपेंसिव होते हैं य सस्ते नही होते और इनके जो कॉमपुटर्स होते है वो बहुत पाउअर्फल कमपयूटर होते है क्युकी आपके hd मे कोई स्ट्रीम आ रही है कोई लाइव स्ट्रीम आ रही है उसको आपको एडिट करना है ग्राफिक्स लगाने है 3 d ग्राफिक्स लगाने है उसके लिए आपका I3 का कंप्युटर नही चलेगा उसके लिए आपको पाउअर्फल कंप्युटर चाहिए होते है बहुत बहुत पाउअर्फल कंप्युटर होते है जो इस्तेमाल किए जाते है।  

 

 

आइ होप आपको पता चल गया होगा कि कैसे लाइव विडिओ न्यूज और मैचस एडिट किये जाते है अलग टीम होती है। मैंने आपको जानकारी दे दी है क्या टेक्नोलॉजी पीछे काम कर रही है लाइव एडिटिंग मे।

 

 

 

Reactions

Post a Comment

0 Comments